समझनी है जिंदगी तो पीछे देखो, जीनी है जिंदगी तो आगे देखो…।
blog inner pages top

ब्लॉग

ये हैं भारत के 10 सबसे प्रसिद्ध शिव मंदिर | These are the Most Famous Shiv Mandir in India

Download PDF

हिन्दू धर्म में शिव पूजा की बहुत अधिक महत्ता बताई जाती है। भगवान शिव त्रिदेवों में से एक देव है। बताया जाता है की भगवान शिव यह पूरा ब्रह्माण्ड अपने अंदर समाएं हुए हैं, यह दुनिया चाहे रहे या ना रहे लेकिन शिव हमेशा रहेंगे। शिव को देवों के देव महादेव भी कहा जाता है, इसके साथ ही वे शंकर, नीलकण्ठ, रूद्र, भोलेनाथ व महाकाल आदि के नाम से भी जाने जाते है।

ये हैं भारत के 10 सबसे प्रसिद्ध शिव मंदिर | These are the Most Famous Shiv Mandir in India

भारत में हजारों की तादाद में मंदिर पाए जाते है, जो की मुख्य तौर पर महाकाल शिव को समर्पित हैं। ऐसे में आज हम आपको भारत के उन 10 सबसे प्रसिद्ध शिव मंदिर के बारे में बताने जा रहे है, जो न सिर्फ भारतीयों को बल्कि विश्वभर में मौजूद सभी शिव- प्रेमियों को अपनी ओर आकृष्ट करते हैं।

आइये जानते है कौनसे हैं यह प्रसिद्ध शिव मंदिर:


1. अमरनाथ गुफा


अमरनाथ गुफा को बाबा बर्फानी के नाम से भी जाना जाता हैं, शिव भक्तों के लिए यह सबसे प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक है। अमरनाथ गुफा के मंदिर की यह विशेषता है की यहां अपने आप ही बर्फ के शिवलिंग का निर्माण होता है। अमरनाथ की यह गुफा कश्मीर की खूबसूरत बर्फीली घाटियों के बीच पाई जाती है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस गुफा में भगवान भोलेनाथ ने इस गुफा में माता पार्वती को अमर कथा सुनाई थी। बताया जाता है की जब शिव यह अमर कथा सुना रहे थे तब वहां एक कबूतर का जोड़ा भी था जो यह कथा सुनकर अमर हो गया था, और आज भी यह काफी श्रद्धालुओं द्वारा देखा जाता है। अमरनाथ गुफा की यह यात्रा कठिन यात्राओं में से एक मानी जाती है। अमरनाथ गुफा का यह मार्ग पथरीलें और ऊबड़-खाबड़ रास्तों से होकर निकलता है।


2. सोमनाथ मंदिर


सोमनाथ मंदिर भारत के सबसे प्राचीन और ऐतिहासिक मंदिरो में से एक है। भगवान शिव का यह मंदिर भारत के पश्चिमी तट पर गुजरात प्रदेश के सौराष्ट्र में प्रभास क्षेत्र में स्थित है। यह मंदिर 12 ज्योतिर्लिंग में से एक माना जाता है जिसके बारे में कई सारे महाग्रंथों में विस्तार से बताया है। इस मंदिर के बारे में यह बताया जाता है इसके भवन का बहुत बार पुर्ननिर्माण करवाया जा चुका है। पौराणिक कथाओं के अनुसार चंद्रदेव ने यहां भगवान शिव की आराधना की थी जिनको सोम नाम से भी जानते थे, जिसके चलते इसका नाम सोमनाथ पड़ा। समुन्द्र तट के पास स्थित इस मंदिर की खूबसूरती देखते ही बनती है।


3. केदारनाथ मंदिर


भारत के प्रसिद्ध मंदिरों की सूची में शामिल अगला मंदिर है केदारनाथ धाम। केदारनाथ का यह मंदिर शिव- प्रेमियों के लिए एक अलग महत्व रखता है। भारत के शिव-भक्तों के मन में जीवन में एक बार इस मंदिर में जाने की चाह हमेशा प्रबल रहती है।उत्तराखंड में स्थित यह शिवमंदिर तीर्थ के चारधामों में से एक है।इन चार धामों में केदारनाथ के अलावा गंगोत्री, यमुनोत्री और बद्रीनाथ जैसे तीर्थ स्थल शामिल है। पहाड़ियों के बीच स्थापित इस मंदिर में सर्दियों के समय काफी मात्रा में बर्फ़बारी होती है। इसलिए यह मंदिर अप्रैल माह के अंत से लेकर नवम्बर माह तक खुलता है।यदि आप इस समय किसीप्रसिद्ध शिव मंदिर में जाने के इच्छुक है तो केदरनाथ एक अच्छा विकल्प हो सकता है।


4. भोजपुर शिव मंदिर


इस शिव मंदिर की अगर बात की जाए तो यह मध्यप्रदेश राज्य के एक जिले रायसेन में बेतवा नदी के किनारे स्थित है। भोजपुर शिव मंदिर एक प्राचीन मंदिर है जो की अपने भवन के अधूरे निर्माण के कारण जाना जाता है। इस मंदिर में एक विशाल शिवलिंग स्थापित है जिसका निर्माण चट्टान से हुआ है। इस शिवलिंग की बात की जाए तो यह देश के सबसे ऊंचे और विशालकाय शिवलिंगो में से एक माना जाता है। मध्य-प्रदेश का यह प्रसिद्ध शिव मंदिर देश विदेश के सभी पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है।


5. अन्नामलाई मंदिर


अन्नामलाई मंदिर तमिलनाडु के अन्नामलाई हिल्स में स्थित है। यह मंदिर अपनी ऊंचाई और भव्य मंदिर परिसर के लिए जाना जाता है। इस मंदिर के बारे मे यह माना जाता है की यहां भगवान शिव ने ब्रह्मा जी को श्राप दिया था। इस मंदिर के भव्य परिसर में चार द्वार है जिन्हें गोपरम भी कहा जाता है। इस मंदिर की स्थापना चोल वंश के शासन के दौरान हुई थी जिसके बाद अन्य शासकों द्वारा भी इसका पुनर्निर्माण करवाया गया था। पूर्णिमा के समय इस मंदिर में श्रद्धालुओं का सेलाब उमड़ता है, विशेष तौर पर कार्तिक पूर्णिमा के समय यहां एक मेले का भी आयोजन होता है।


6. महाकालेश्वर मंदिर


भारत के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक महाकालेश्वर मंदिर मध्यप्रदेश राज्य के उज्जैन नगर में स्थित है। उज्जैन महाकाल की नगरी के नाम से प्रसिद्ध है। उज्जैन नगरी में स्थापित यह महाकालेश्वर मंदिर भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। महाकालेश्वर मंदिर में होने वाली आरती भस्म से की जाती है, इसके साथ शिवलिंग का शृंगार भी शमसान से लाई हुई राख से किया जाता है। मध्यप्रदेश में स्थित यह मंदिर भारत में घूमने के लिए सबसे प्रसिद्द मंदिरों में से एक है।


7. काशी विश्वनाथ मंदिर


काशी विश्वनाथ, भगवान शिव को समर्पित सबसे प्रसिद्द मंदिरों में से एक है। इस मंदिर की बात की जाये तो यह भारत के उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिलें में स्थित है। यह मंदिर भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है और गंगा नदी के पश्चिमी किनारे पर स्थापित है। इस मंदिर का नाम में काशी का अर्थ वाराणसी से है वहीं विश्वनाथ का मतलब है विश्व के नाथ यानी ब्रह्मण्ड के स्वामी। काशी विश्वनाथ के इस मंदिर के बारे में एक मान्यता यह भी बताई जाती है की इस मंदिर में एक बार दर्शन से करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है।


8. लिंगराज मंदिर


भारत के ओड़िशा राज्य की राजधानी भुवनेश्वर में स्थित भगवान शिव का यह मंदिर यहां की सबसे प्राचीन संरचनाओं में से एक है। लिंगराज मंदिर कलिंग शैली की वास्तुकला से सुसज्जित होने के साथ ही ओडिशा के सबसे प्रमुख मंदिरों में से एक है। लिंगराज मंदिर की स्थापना सोम वंश के राजाओं द्वारा की गई थी जिसके बाद अन्य वंश के राजाओं ने भी इसका पुनर्निर्माण करवाया था। यदि आप किसी शिव मंदिर घूमने का विचार कर रहे है तो लिंगराज मंदिर एक बहुत अच्छा विकल्प हो सकता है।


9. त्र्यंबकेश्वर मंदिर


त्र्यम्बकेश्वर मंदिर एक ज्योतिर्लिंग मंदिर है जो नासिक शहर से लगभग 28 किलोमीटर की दूरी पर गोदवारी नदी के किनारे स्थित है। इस मंदिर का निर्माण पेशवा बालाजी बाजीराव द्वारा करवाया गया था। भारत के सबसे प्रसिद्ध शिव मंदिरों में गिना जाने वाला यह मंदिर काले पथरों से बनाया गया है। त्र्यम्बकेश्वर मंदिर में शिवलिंग के मुखों को ब्रह्मा, विष्णु और रूद्र तीनों रूपों में दर्शाया गया है। इतना ही नहीं तीन मुखों वाले इस शिवलिंग के मुकुट महंगे रत्न और स्वर्ण से सुशोभित है।


10. रामनाथस्वामी मंदिर


श्री रामनाथस्वामी मंदिर तीर्थ स्थल रामेश्‍वरम के मुख्य पर्यटन आकर्षण में से एक है। भगवान शिव को समर्पित यह मंदिर, भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह बहुत ही प्राचीन मंदिर है.रामनाथस्वामी मंदिर का निर्माण संगमरमर से किया गया है। प्रत्येक वर्ष लाखों की संख्या में शिव- भक्त यहां दुनियाभर से दर्शन करने के लिए आते है। तमिलनाडु के इस मंदिर के बारे में यह मान्यता है भगवान राम ने लंका से लौटते समय यहां भगवान शिव की पूजा की थी।

डाउनलोड ऐप

TAGS